शपथ ग्रहण समारोह ऐतिहासिक था- कुमार स्वामी

0
21

कुमारस्वामी ने कहा कि शपथग्रहण में जिस तरह से दिग्गज नेताओं का जमावड़ा हुआ, यह ऐतिहासिक था। हालांकि, उन्होंने कहा कि ये नेता मुझे समर्थन देने नहीं आए, बल्कि ये लोग यह संदेश देने आए हैं कि 2019 में चुनौती बड़ी होगी। उनका मानना है कि देश को बचाने के लिए 2019 में कांग्रेस के साथ एकजुट होने की जरूरत है। कयास लगाया जा रहा है कि कुमारस्वामी के शपथग्रहण में जिस तरह से इतने बड़े स्तर पर विपक्ष के नेता एकजुट हुए हैं, ऐसे में स्थानीय नेता ममता बनर्जी, चंद्रबाबू नायडू, तेजस्वी यादव, अखिलेश यादव और मायावती कांग्रेस के साथ एकजुट हो सकती हैं। शपथग्रहण समारोह में इतने दिग्गजों का एक साथ पहुंचना, कई तरह के सवाल उत्पन्न कर रहे हैं।
[बहरहाल, काफी जद्दोजहद के बाद कर्नाटक में सियासी माहौल शांत हो गया। राज्य को अपना नया उत्तारधिकारी मिल गया है। लेकिन, कर्नाटक की राजनीति ने एक ओर जहां कई सवाल खड़े किए। वहीं, दूसरी ओर भाजपा को 2019 में घेरने के लिए कई तरह के राजनीतिक समीकरण भी बनने शुरू हो गए हैं। अब देखना यह होगा कि आने वाले समय में कर्नाटक की सियासी हलचल क्या रंग दिखाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here